खड़े होकर पानी पीने के नुकसान-Loss of drinking water standing in hindi

खड़े होकर पानी पीना हो सकता है खतरनाक अगर ने जानते खड़े होकर पानी पीने के नुकसान तो पढ़ ले ये पोस्ट:-

खड़े होकर पानी के नुकसान
खड़े होकर पानी के नुकसान

शायद आपने कभी किसी से सुना होगा के भाई बैठ कर पानी पीना चाहिए, तो हम उसको बोल देते हैं के इस से क्या होगा. तो आज हम आपको वही बताने जा रहें हैं के अगर आप खड़े हो कर पानी पीते हैं तो आप अपच से लेकर एसिडिटी, अल्सर, किडनी, Heart Burn, Arthritis और Gout जैसे रोगों के शिकार हो सकते हैं. आइये जानते हैं विस्तार से.

क्या आप जानते हैं कि सही तरीके से पानी न पीने के कारण आप कई बीमारियों को दावत भी दे सकते हैं.
आर्युवेद के अनुसार हमें कभी भी खड़े होकर पानी नहीं पीना चाहिए. अगर आपकी भी खड़े होकर पानी पीने की आदत है तो जान लें कि आप जाने अनजाने में अपना वर्तमान और भविष्य दोनों ही कराब कर रहें हैं.

खड़े होकर पानी पीने के नुकसान

 

किडनी के रोग-

गुर्दे अर्थात किडनी का काम होता है पानी को छानना. खड़े होकर पानी पीने पर पानी गुर्दो से बिना सही तरीके से छने ही बह जाते है. समय के साथ आपके मुत्राशय और रक्त में गंदगी जमने लगती है. अगर यह स्थिति लंबे समय तक बनी रहे तो मूत्राशय, दिल और गुर्दे की बीमारी को जन्म देती है.

ये भी पढ़े- पानी पीने के फायदे

पेट की बीमारी-

 

खड़े होकर पानी पीने से पानी खाद्य नलिका के जरिए तेजी से नीचे बह जाता है और पेट की अंदरूनी दीवार और आसपास के अंगों पर पानी की तेज धार पड़ने के कारण क्षति पहुंचती है. बार-बार ऐसा होते रहने से पाचन तंत्र बिगड़ जाता है. इससे दिल को भी नुकसान पहुंचता है.

 

Arthrits और Gout की समस्या-

अगर आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो भविष्य में आपको Arthritis जैसी भयंकर बीमारी का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि खड़े होकर पानी पीने से शरीर में तरल पदार्थ का संतुलन बिगड़ जाता है. पानी सीधा तीव्र वेग से नीचे की और जाता है जो के जोड़ों में मौजूद तरल पदार्थों का संतुलन बिगाड़ कर वहां संचित होना शुरू हो जाता है, जिस कारण से जोड़ों में दर्द और गठिया की समस्या उत्पन्न हो जाती है.

 

प्यास नहीं बुझती

खड़े होकर पानी पीने से जल्दी प्यास नहीं बुझती, और आयुर्वेद में कहा भी गया है के पानी ऐसे पियो के जैसे खा रहे हो और खाना ऐसे खाओ के जैसे पी रहे हो अर्थात खाने को मुंह में इतना चबाओ के उसका पानी बन जाए.

 

अपच – Indigestion

ये भी पढ़े- पानी पीने के फायदे

खड़े हो कर पानी पीने से पेट को आराम नहीं मिलता, पेट पर अधिक जोर आता है, बैठ कर पानी पीने से पेट को आराम मिलता है जिस से ये और भी Better काम करता है.

 

शरीर में Acids को कण्ट्रोल करना

 

खड़े होकर पानी पीने से शरीर एसिड को अच्छे से कण्ट्रोल नहीं कर पाता. जिस से शरीर में एसिड बढ़ जाते हैं, और एसिडिटी सहित अनेक समस्याएँ उत्पन्न हो जाती हैं.

अलसर और हृदय में जलन

 

खड़े रह कर पानी पीना सीने में जलन और अलसर जैसे रोग भी पैदा कर सकता है. ऐसे में ये esophagus के निचले हिस्से को बुरी तरह प्रभावित करता है. जहाँ से फिर Reflux वापिस आता है. और ये Sphincter को Disturb करता है. जिस कारण सीने और हृदय में जलन महसूस होती है और अल्सर जैसे रोगों को बढ़ावा मिलता है. अधिक जानकारी के लिए नीचे दिया गया चित्र समझने की कोशिश करें.

 

नसों में तनाव

 

जब आप खड़े हो कर पानी पीते हैं तो शरीर का “fight and flight system” Activate हो जाता है, जिस से सभी नसे तन जाती हैं. इसके विपरीत जब आप बैठ कर पानी पीते हैं तो ‘rest and digest system’ Activate हो जाता है. जो के सभी इन्द्रियों को शांत करता है जिस से Digestion system भी सही रहता है.

.ये भी पढ़े- पानी पीने के फायदे

तो समझ गए न आप. स्वस्थ रहने के लिए जितना जरूरी है खूब सारा पानी पीने की उससे अधिक जरूरी है सही तरीके से पानी पीने की. अगर आप भी खड़े होकर पानी पीते हैं तो यह आदत बदल लीजिए और बैठकर पानी पीने की आदत डाल लीजिए. वैसे यहाँ बैठना भी वही बैठना है जैसे भारतीय संस्कृति में अर्थात उकडू, बैठने का सही मतलब कुर्सी पर बैठना नहीं है.

ये भी पढ़े- पानी पीने के फायदे

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *